Subscribe Daily Horoscope

Congratulation: You successfully subscribe Daily Horoscope.
 

SunderKand

SunderKand

ऐसे माना जाता है की हनुमान जी को प्रसन्न करने के किये सुंदरकांड का पाठ किया जाता है। ऐसा करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती जय और जातक के जीवन में सुख-समृद्धि का आगमन होता है।

6000/-
Delivery: Within 5 - 8 Business Days
Free Shipping: All over India
Order on Call: +91 8882 540 540

ऐसे माना जाता है की हनुमान जी को प्रसन्न करने के किये सुंदरकांड का पाठ किया जाता है। ऐसा करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती जय और जातक के जीवन में सुख-समृद्धि का आगमन होता है।

सुंदरकांड सभी समस्याओं के लिए सभी मनुष्यों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। कई वर्षों से यह सत्य है की सुंदरकांड का पाठ करने से कई ग्रहों के अशुभ प्रभाव दूर होते है तथा जातक को शांति और सुख की प्राप्ति होती है।

 कैसे करवाएं सुंदरकांड का पाठ

जो लोग किसी भी कारणवश या किसी बाधा के कारण सुंदरकांड करने में असमर्थ होते है, वे चाहते है कि इसका पाठ उनके संकल्प के साथ किया जाए, परन्तु वो कर नहीं पाते ऐसे जातकों के लिए ही हमारे संस्थान में हमारे अनुभवी पंडितों द्वारा व्यक्तिगत रूप से सुंदरकांड का पाठ करने की सुविधा उपलब्ध है, हमें भी सुंदरकांड का पाठ करने में बहुत ख़ुशी मिलती है, अगर आप चाहें तो हम आपके लिए ऑनलाइन पाठ करते है, यह एक लाइव सत्र होगा जिसे आप आराम से कर पायेंगे।  

सुंदरकांड का पाठ करने का महत्‍व

सुंदरकांड का पाठ मंगलवार के दिन करना शुभ माना जाता है। इस पाठ को पूर्ण करने में कम से कम 2 या 3 घंटे का समय लगता है, इस पाठ को करने से मन को शांति मिलती है, बजरंग बलि का आशीर्वाद मिलता है तथा मन से भय दूर हो जाता है। हमारे संस्थान में अनुभवी पंडित जी द्वारा किसी भी ग्राहक के लिए उचित पूजा, हवन और आहुती के साथ सुंदरकांड का पाठ किया जाता है। यह पाठ कराने से मनवांछित सफलता मिलती है, सभी महत्‍वपूर्ण कार्य संपन्‍न होते हैं। इस पूजा के प्रभाव से आपके जितने भी रुके हुए काम हैं वो पूरे हो जाते हैं। शारीरिक और मानसिक चिंताएं दूर होती हैं।

सुंदरकांड का पाठ करने के लाभ

  • सुंदरकांड का पाठ करवाने से हनुमान जी का आशीर्वाद सदैव जातक को मिलता है।
  • इसके प्रभाव से जीवन के हर संकट से मुक्ति मिलती है।
  • मंगलवार के दिन श्रद्धापूर्वक सुंदरकांड का पाठ चालीस सप्ताह तक लगातार करने से सारे मनोरथ पूर्ण होते है।
  • सुंदरकांड का पाठ करने से हनुमान जी के साथ-साथ रान भगवान का आशीर्वाद जातक को हर मुसीबत से रक्षा करता है।
  • हनुमान जी के इस पाठ का जो भी जातक कठिन से कठिन स्थिति से बाहर निकलने के लिए करता है उसके समस्त कष्ट तथा परेशानियों का अंत होता है।
  • आप दुनिया के किसी भी कोने में क्यों न रहते हो, यह पाठ निश्चित रूप से आपकी मदद करेगा, जिसके कारण आपकी जीवन में आनेवाली सभी समस्याओं से आप छुटकारा पा सकते है।
  • किसी योग्य पंडित द्वारा यह सुंदरकांड का पाठ करवाने से घर-परिवार, कार्यक्षेत्र में उत्पन्न होने वाली समस्याओं से मुक्ति मिलती है।
  • जातक के जीवन में मानसिक शांति का आभाव हो या उसका बुरा असर जातक के मस्तिष्क पर पड़ता है, सोचने-समझने की शक्ति क्षीण हो जाती है तथा जातक मानसिक तनाव में आ जाता है, जिसका असर जातक के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है परन्तु इस पाठ के प्रभाव से मानसिक शांति मिलती है तथा बेवजह की चिंताओं से मुक्ति मिलती है।
  • इस पाठ के प्रभाव से डर की भावना का खात्मा हो जाता है, मनुष्य के अंदर सौहार्द और साहस की भावना देखने को मिलती है।

पूजा-पाठ की सामग्री

धूप, फूल पान के पत्ते, सुपारी, हवन सामग्री, देसी घी, मिष्ठान, गंगाजल, कलावा, हवन के लिए लकड़ी (आम की लकड़ी), आम के पत्ते, अक्षत, रोली, जनेऊ, कपूर, शहद, चीनी, हल्दी और गुलाबी कपड़ा|

पूजा-पाठ का समय :

यह पूजा-पाठ आप मंगलवार के दिन करवा सकते है। 

पूजा-पाठ का महत्‍व

सुंदरकांड का पाठ कराने से भूत-प्रेत का डर नहीं लगता, मनोरथ पूर्ण होते है, आपके घर के पारिवारिक कलह दूर हो जाते है, सभी महत्‍वपूर्ण कार्य संपन्‍न होते हैं। इस पाठ के प्रभाव से आपके जितने भी रुके हुए काम हैं वो पूरे हो जाते हैं। शारीरिक और मानसिक चिंताएं दूर होती हैं।

यजमान द्वारा वांछित जानकारी : 

नाम एवं गोत्र, पिता का नाम, जन्‍म तारीख, स्‍थान ||

कैसे प्राप्‍त करें यह सौभाग्‍य : 

आप AstroVidhi Customer Care Number 8285282851 पर संपर्क करके  सुंदरकांड का पाठ  अपने या अपने परिवार के किसी सदस्‍य के लिए करवाने का समय ले सकते हैं। जिस किसी की सुख-समृद्ध‍ि के लिए आप ये पूजा-पाठ करवाना चाहते हैं उसका नाम, जन्‍म स्‍थान, गोत्र और पिता का नाम अवश्‍य ज्ञात होना चाहिए।

 
6000/-

Reviews

Based on 0 reviews

Write a review