Subscribe Daily Horoscope

Congratulation: You successfully subscribe Daily Horoscope.
 

मच्छमणि

मच्छमणि

मच्छमणि एक दुर्लभ मणि है। राहू ग्रह की पीड़ा को शांत करने के लिए इस मणि से बेहतर और कोई मणि नहीं हैं। यह एक प्राचीन मणि होने के साथ-साथ बहुत ही दुर्लभ मणि हैं।

डिलीवरी: 5-8 दिनों में डिलीवरी
मुफ़्त शिपिंग: पूरे भारत में
फ़ोन पर ख़रीदें: +91 8882 540 540
अभिमंत्रित: फ्री अभिमन्त्रण आचार्य रमन जी द्वारा

मच्छमणि एक दुर्लभ मणि है। राहू ग्रह की पीड़ा को शांत करने के लिए इस मणि से बेहतर और कोई मणि नहीं हैं। यह एक प्राचीन मणि होने के साथ-साथ बहुत ही दुर्लभ मणि हैं।

यह धारणकर्ता को सभी प्रकार के तनावों से मुक्त कर एक सुखी जीवन व्यतीत करने की प्रेरणा देता हैं। इसे धारण करने के बाद राहू ग्रह की पीड़ा शांत होती हैं। जीवन में कई बार धन-संपत्ति, मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि में दिक्कते आती हैं, ऐसे में अपनी इच्छाओं की पूर्ति और उत्तम स्वास्थ्य के लिए हम आपके लिए लेकर आये हैं मच्छमणि। अगर जीवन से हताश या निराश हैं तो, इस मणि को जरुर धारण करें।

मच्छमणि के लाभ

  • राहू ग्रह की पीड़ा को शांत करने के लिए या राहू की महादशा या अन्तर्दशा चल रही हैं, तोमच्छ मणि को धारण करना लाभदायक होता हैं।
  • जो व्यक्ति राजनीति में पूर्ण रूप से सक्रिय है और सफल होने की इच्छा रखते है, उन्हें मच्छमणि जरुर धारण करना चाहिए।
  • आप भी ऐश्वर्यपूर्ण जीवन जीने के सपने देखते है परन्तु धन की कमी के कारण सभी सपने साकार होने से पहले ही मुरझा जाते है तो मच्छमणि आपको अवश्य धारण करना चाहिए।
  • यदि किसी जातक की कुंडली में कालसर्प दोष है, कालसर्प दोष के कारण जीवन में आए दिन नई नई मुसीबतें आ रही है, मानसिक शारीरिक तथा आर्थिक कष्ट बढ़ रहे है तो मच्छमणि रत्न अवश्य धारण करना चाहिए, इस रत्न के प्रभाव से कालसर्प दोष के कारण उत्पन्न होने वाले कष्टों का निवारण बहुत जल्दी हो जाता है।
  • यदि कोई जातक त्वचा सम्बन्धी रोगों से परेशान है या पाचन से सम्बंधित कोई रोग बार-बार परेशान कर रहा है, खांसी या क्षय और किडनी रोग से छुटकारा चाहते है तो आपको मच्छमणि अवश्य धारण करना चाहिए।
  • वास्तु दोष निवारण के लिए मच्छमणि धारण करना चाहिए। घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए भी यह मणि लाभदायक होता हैं।
  • नजरदोष, शरीर में थकावट, केमुद्र्म दोष, गुरु चांडाल दोष, ऊपरी बाधा, व्यापार में बाधा आदि को दूर करने के लिए मच्छमणि धारण करना चाहिए।
  • यह रत्न शत्रुओं से हमारी रक्षा करता है तथा मनोबल में वृद्धि करता हैं। जब भी घर में बच्चों को या घर के किसी व्यक्ति को किसी कोने या कमरे में अनजान वस्तु या छाया का अहसास हो या डर हो तो इस मणि को साबुत नमक के पानी में भिगोकर, राहू के मंत्र के साथ जरुर धारण करना चाहिए।

हमसे क्यों लें

मच्छमणि को हमारे अनुभवी ज्योतिषों द्वारा अभिमंत्रित किया है, जिससे यह आपको जल्द ही शुभ फल दे। इस मणि के साथ सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा जो इस मणि के ओरिजनल होने का प्रमाण है।

 

Reviews

Based on 0 reviews

Write a review