Subscribe Daily Horoscope

Congratulation: You successfully subscribe Daily Horoscope.
 

मेरु श्रीयंत्र

मेरु श्रीयंत्र

मेरु श्रीयंत्र आध्‍यात्‍मिक ऊर्जा से परिपूर्ण होता है। श्री यंत्र को धन की देवी मां लक्ष्‍मी का निवास स्‍थान कहा जाता है। मेरु स्‍वरूप में श्रीयंत्र और भी ज्‍यादा भाग्‍यशाली और शुभ हो जाता है।

 
डिलीवरी: 3-4 दिनों में डिलीवरी
मुफ़्त शिपिंग: पूरे भारत में
फ़ोन पर ख़रीदें: 82852 82851
अभिमंत्रित: फ्री अभिमन्त्रण पंडित सूरज शास्त्री जी द्वारा

मेरु श्रीयंत्र आध्‍यात्‍मिक ऊर्जा से परिपूर्ण होता है। श्री यंत्र को धन की देवी मां लक्ष्‍मी का निवास स्‍थान कहा जाता है। मेरु स्‍वरूप में श्रीयंत्र और भी ज्‍यादा भाग्‍यशाली और शुभ हो जाता है।

जिस श्रीयंत्र की बनावट सुमेरु पर्वत की तरह होती है उसे मेरु पृष्‍ठ कहा जाता है। ब्रांस से बने यंत्र अधिकांशत: मेरु पृष्‍ठकार होते हैं।

मेरु श्रीयंत्र के लाभ

  • जिन लोगों के घर में मेरु श्रीयंत्र होता है वहां कभी भी धन-धान्‍य की कमी नहीं होती है। मां लक्ष्‍मी के आशीर्वाद से उस घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।
  • मेरु श्रीयंत्र के प्रभाव से इसकी उपासना करने वाले व्‍यक्‍ति को मोक्ष की प्राप्‍ति मिलती है।
  • मेरु श्रीयंत्र जिस भी घर में होता है ये वहां पर आने वाली खुशियों, समृद्धि और स्‍वास्‍थ्‍य के मार्ग में आ रही रुकावटों को दूर करता है।
  • व्‍यापार में वृद्धि के लिए भी आप अपनी दुकान या ऑफिस में मेरु श्रीयंत्र की स्‍थापना कर सकते हैं।

कहां करें स्‍थापित

सुख और समृद्धि की कामना रखते हैं तो अपने घर में धन रखने के स्‍थान एवं तिजोरी में मेरु श्रीयंत्र की स्‍थापना करें। आप स्‍वयं देखेंगें कि आपके पैसे और व्‍यापार में दिन दून रात चौगुनी वृद्धि होगी।

क्‍या करें

मेरु श्रीयंत्र के अत्‍यधिक शुभ प्रभाव पाने के लिए इसका अभिमंत्रित होना बहुत जरूरी है। अभिमंत्रित होने के बाद मेरु श्रीयंत्र के दोगुने शुभ फल प्राप्‍त होते हैं।

कैसे करें पूजा

सबसे पहले अपने घर के पूजन स्‍थल में पूर्व की दिशा में मेरु श्रीयंत्र की स्‍थापना करें। अब गंगाजल में केसर और दूध मिलाकर इसे स्‍नान कराएं। इसके पश्‍चात् दोबारा इसे पानी से साफ करें।

साफ कपड़े से मेरु श्रीयंत्र को साफ करें। अब इसके आगे फूल और फल अर्पित करें। धूप और अगरबत्ती दें। 108 बार मेरु श्रीयंत्र के मंत्र का जाप करें। मंत्र है –

‘ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलाये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊं महालक्ष्‍माये नम:’

कहां से लें

आप अभिमंत्रित मेरु श्रीयंत्र AstroVidhi से भी प्राप्‍त कर सकते हैं।  AstroVidhi से लिए गए मेरु श्रीयंत्र को मां लक्ष्‍मी के विशेष मंत्रों द्वारा अभिमंत्रित कर आपके पास भेजा जाएगा।

 

Reviews

Based on 0 reviews

Write a review