admin

शुक्र का तुला राशि में गोचर, 17 नवंबर 2020 – जानिये आप पर प्रभाव

शुक्र धन-धान्य और भोग विलास का कारक ग्रह है। शुक्र ग्रह को ज्योतिष शास्त्र में एक लाभप्रद ग्रह माना गया हैं। शुक्र का संबंध वैवाहिक जीवन, जीवनसाथी, कामुकता, ऐशो आराम तथा सुख से होता है। शुक्र के प्रभाव से जातक को समस्त जीवन के सुखो की प्राप्ति होती है। शुक्र वृषभ और तुला राशि का स्वामी है, वही मीन उच्च तो कन्या नीच राशि मानी जाती है। शुक्र ग्रह 17 नवंबर 2020 मंगलवार को दोपहर 12 बजकर 50 मिनट से तुला राशि में गोचर करेगा, जो यहाँ अगले 25 दिनों तक इसी अवस्था में रहेगा और फिरसे अपना गोचर करते हुए 11 दिसम्बर 2020, शुक्रवार सुबह 05 बजकर 04 मिनट पर  इसी राशि से निकलकर वृश्चिक राशि में विराजमान होगा। शुक्र ग्रह जातक के किस भाव में बैठे है यह बहुत मायने रखता है। शुक्र लगभग एक महीने तक ही किसी राशि में रहते है,  इसलिए शुक्र किसी राशि में जितने समय के लिए रहते है, उस भाव के अनुसार जातक का भविष्यफल भी प्रभावित होता है।

शुक्र का तुला राशि में गोचर  (17 नवंबर 2020 से 11 दिसम्बर 2020)

आइए जानते है शुक्र के इस राशि परिवर्तन का विभिन्न 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि पर प्रभाव

शुक्र का राशि परिवर्तन आपकी राशि से सप्तम भाव में हो रहा है। इस गोचर के दौरान आपको सावधान रहने की सलाह यहाँ दी जाती है। पैसों का लेनदेन करते समय सावधानी बरते अन्यथा धोखा मिल सकता है। जीवनसाथी के साथ किसी बात को लेकर मनमुटाव देखने को मिल सकता है। छोटी-छोटी बातों को लेकर तनाव देखने को मिलेगा। कामकाज में वरिष्ठ लोगों से सम्बन्ध खराब हो सकते है। आप अपनी तरफ से हमेशा प्रयत्नशील रहेंगे। धन हानि के संकेत मिल रहे है। व्यवसाय में पार्टनर से बहस हो सकती है, परस्पर सम्बन्ध खराब हो सकते है। प्रोफेशनल क्षेत्र में आपको अच्छी सफलता मिल सकती है। यह गोचर आपके लिए सामान्य रहनेवाला है। स्वास्थ्य के लिहाज से, आपको आपको इस गोचर के दौरान कुछ समस्या हो सकती है।

उपाय- सोमवार तथा शुक्रवार के दिन श्वेत वस्त्र धारण करने से मनवांछित सफलता मिलती हैं।

वृषभ राशि पर प्रभाव 

शुक्र आपकी राशि से छठे भाव अर्थात शत्रु भाव में गोचर कर रहे है। ज्योतिष अनुसार, आपके लिए शुक्र दूसरे और सातवें भाव के स्वामी हैं, जिससे परिवार, धन, साझेदार और जीवनसाथी का विचार किया जाता है। कानूनी विवादों का सामना करना पड़ सकता है। यह गोचर स्वास्थ्य के लिए उत्तम नहीं है, अपने सेहत के प्रति जागरूक रहे। दाम्पत्य जीवन में कलह बना रहेगा। कामकाज के क्षेत्र में किसी से विवाद हो सकता है। यात्राएँ भी होंगी परन्तु वो फलदायी नहीं होंगी इसलिए यात्रा करने से परहेज करें। स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाएं तो, शुक्र के इस गोचर के दौरान, आपको वाहन चलाने से परहेज करना चाहिए, अन्यथा कोई दुर्घटना होने की सम्भावना बनी हुई हैं। अगर छात्र मेहनत करते है तो अवश्य ही उनको मेहनत का फल मिलेगा। यदि आप पार्टनरशिप में बिज़नेस करते हैं तो, आशंका है कि आपके अपने साझेदार से संबंध खराब हो, इसलिए थोड़ा सतर्क रहें।

उपाय- अगर जीवन में कामयाबी चाहते हैं तो घर में सफ़ेद रंग के फूलों के पौधे अवश्य लगाएं, उन पौधों की सेवा करें।

अभी महालक्ष्मी पूजा करवाएं 

मिथुन राशि पर प्रभाव

शुक्र आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर कर रहे है। इस गोचर में नवीनतम कार्य संपन्न होंगे तथा इस अवधि में संतान से भरपूर प्रेम तथा सम्मान मिलेगा। आपके दांपत्य जीवन में आपको संतान पक्ष की ओर से, कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। प्रेम संबंधों में रोमांस बढ़ेगा। छात्रों के लिए यह गोचर अच्छा है। नवीन अवसर मिलेंगे। सरकारी नौकरी की तलाश में जुटे लोगों को सरकारी नौकरी मिलने की सम्भावना है। कार्यक्षेत्र पर आपको, धन कमाने के साथ-साथ प्रगति करने के भी कई अवसर प्राप्त होंगे।  धन की स्थिति उत्तम बनी रहेगी। बौद्धिक क्षमता का विकास होगा।

उपाय- खाना खाने से पहले घर में बनने वाली पहली रोटी गाय के लिए निकालने से लाभ होता हैं।

कर्क राशि पर प्रभाव

शुक्र आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर कर रहे है। यह सुख का भाव होता है। माता की सेहत उत्तम बनी रहेगी। पारिवारिक सुख की अनुभूती होगी। कार्यक्षेत्र पर आपको अच्छे फलों की प्राप्ति होगी, क्योंकि मिथुन राशि के स्वामी बुध देव, शुक्र के परम मित्र होते हैं। यह गोचर प्रॉपर्टी या नवीन वाहन खरीदने के लिए उत्तम है। कोई काम अगर बहुत दिनों से अटका हुआ है तो वह इस गोचर में पूर्ण होगा। कोई नया वाहन या घर भी लेने का प्लान कर सकते हैं, लेकिन इस समय अपने धन को, खर्च करते समय अधिक सावधान रहने की ज़रूरत होगी। अपने सगे-सम्बन्धियों का साथ मिलेगा। सुख-संपत्ति में इजाफ़ा होगा। 

उपाय- शुक्रवार के दिन अपनी इच्छानुसार छोटी-छोटी कन्याओं को मिश्री बांटने से लाभ होगा या फिर सफ़ेद दूध से बनाई मिठाई बांटे।   

सिंह राशि पर प्रभाव

तृतीय भाव में शुक्र का गोचर आपके धन में वृद्धि का कारण बनेगा। इसे सहज भाव कहते है। कर्क राशि के जातकों के लिए यह गोचर बढ़िया रहने वाला है। साहस और आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। आप अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए, हर संभव प्रयास करते दिखाई देंगे। समाज में माँ-सम्मान बढेगा। सहकर्मी आपका भरपूर साथ देंगे। पारिवारिक सुख मिलेगा। अपनी वाणी पर नियंत्रण रखे तथा किसी भी प्रकार के विवाद से दूर रहें। धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ेगी। स्वास्थ्य के दृष्टि से देखें तो, शुक्र के कन्या में गोचर के दौरान आपकी सेहत सामान्य से ठीक-ठाक ही रहेगी। हालांकि बीच-बीच में गले या गर्दन से संबंधित, कोई समस्या परेशान कर सकती है। कुल मिलाकर यह गोचर आपके लिए अच्छा है।

उपाय – शुक्र से संबंधित वस्तुओं का दान करें, शुक्र का मंत्र  “ॐ शुं शुक्राय नमः” का जाप करें।

कन्या राशि पर प्रभाव

शुक्र का यह गोचर आपकी राशि से द्वितीय भाव में हो रहा है। धन प्राप्ति के अनेक अवसर इस गोचर में आपको मिलेंगे। महंगी चीजे आप इस गोचर में क्रय कर सकते है। प्रेम संबंधों के लिए बेहतर समय है। संतान प्राप्ति की इच्छा रखनेवाले लोगों के लिए समय अनुकूल है। छात्रों को मेहनत का फल अवश्य मिलने वाला है। परिवार में प्यार और एक दूसरे के प्रति सम्मान की भावना देखने को मिलेगी।  आप अपने काम से खुश नहीं दिखाई देंगे। साथ ही आपका अपने वरिष्ठ अधिकारियों से, मतभेद भी संभव है। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि हर परिस्थिति में न केवल खुद को शांत रखें, बल्कि जल्दबाज़ी में कोई भी निर्णय लेने से भी परहेज करें। व्यवहार और बोली पर नियन्त्रण रखें।

उपाय – शुक्रवार के दिन सफ़ेद चन्दन का दान करें।  

अभी महालक्ष्मी पूजा करवाएं

तुला राशि पर प्रभाव

शुक्र का गोचर आपकी राशि में हो रहा है। यह गोचर जीवन में सकारात्मक बदलाव लेकर आ रहा है। आप ऐशोआराम की वस्तुओं पर ज्यादा धन खर्च करेंगे। शत्रु आपसे भयभीत रहेंगे। आर्थिक स्थिति अच्छी बनी रहेगी। हालांकि इस समय शुक्र, आपको अधिक इच्छावादी बनाएगा, जिससे आपका ध्यान अपने लक्ष्य से कुछ भटक सकता है। इसलिए अपनी इच्छाओं को पूरा करते समय, अपने लक्ष्य पर भी केंद्रित रहना आपके लिए बेहद ज़रूरी होगा। संतान सुख की प्राप्ति होगी। कामकाज में नयापन देखने को मिलेगा। छात्रों को मनवांछित फल मिलेंगे। यह शुक्र का गोचर कन्या राशि के लोगों के लिए अच्छा है।

उपाय – सफ़ेद कपडा, चांदी, चावल किसी जरूरतमंद को दान करें।

वृश्चिक राशि पर प्रभाव

शुक्र का राशि परिवर्तन आपकी राशि से 12 वें भाव में हो रहा है। यह भाव व्यव भाव होता है। इस गोचर के दौरान धन लाभ होगा। खर्चों में भी वृद्धि होगी। आप भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ उठाएंगे। पति-पत्नी के बीच मधुर सम्बन्ध स्थापित होंगे। व्यापारियों को लाभ होगा। कुल मिलाकर शुक्र का यह गोचर आपके लिए अच्छा ही है। इस गोचर में विदेश यात्रा होने के संकेत मिल रहे है, लम्बी दूरी की यात्राएं भी होने की सम्भावना इस गोचर में बनी हुई है। आप अपने दोस्तों एवं करीबियों की मदद से, कोई लाभ उठा सकते हैं। हालांकि इस समय आपके ख़र्चों में लगातार, वृद्धि देखी जाएगी। इस गोचर में विदेश यात्रा होने के संकेत मिल रहे है, लम्बी दूरी की यात्राएं भी होने की सम्भावना इस गोचर में बनी हुई है। 

उपाय – सफ़ेद चन्दन का टिका अपने माथे पर लगाएं।

धनु राशि पर प्रभाव

शुक्र का यह गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में हो रहा है। यह आमदनी का भाव कहा जाता है। आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए यह गोचर अच्छा है। करियर और कार्यक्षेत्र के लिए ये गोचर, अच्छा रहने वाला है, क्योंकि आपको इस समय पदोन्नति और सफलता की प्राप्त होगी। साथ ही पार्टनरशिप में बिज़नेस करने वाले जातकों को भी, शुभ फल मिलेंगे। इस समय विभिन्न स्रोतों से धन का आगमन होगा। रोमांस के लिए अच्छा समय है। मित्रों का अच्छा सहयोग मिलेगा। उधार दिया हुआ धन वापिस आ सकता है। पारिवारिक सुख मिलेगा। यात्रा करने के लिए भी समय अच्छा है। व्यवहार में विनम्रता रखें, बेवजह किसी से भी न उलझे। व्यापार-व्यवसाय में धन लाभ होगा।

उपाय – शुक्र देव को प्रसन्न करने के लिए शुक्र का मंत्र  “ॐ शुं शुक्राय नमः” का जाप करें।

मकर राशि पर प्रभाव

शुक्र का यह गोचर आपकी राशि से दशम भाव में हो रहा है। यह गोचर कार्यक्षेत्र में जिम्मेदारियों का निर्वाह अच्छे से करने में विफल हो सकते है। पैसों का लेनदेन करते समय सावधनी बरतें। कार्यक्षेत्र में इस गोचर के दौरान आपको, हर कार्य में असंतुष्टि महसूस होगी। आपके शत्रु सक्रिय रहेंगे और आप अपनी योग्यताओं को लेकर, थोड़ा उलझन में दिखाई देंगे। पारिवारिक कलह मानसिक अशांति उत्पन्न कर सकते है। शत्रुओं की संख्या में वृद्धि हो सकती है। कामकाज में अपने सीनियर्स के साथ सम्बन्ध अच्छे रखे अन्यथा दिक्कते हो सकती है। धनु राशि के लोगों के लिए यह समय सामान्य रहने वाला है।

उपाय – शुक्र ग्रह की मजबूती के लिए तथा शुक्र के अच्छे प्रभावों के लिए शुक्रवार के दिन ओपल धारण करें।

कुंभ राशि पर प्रभाव

शुक्र का राशि परिवर्तन आपकी राशि से नवम भाव में हो रहा है। यह गोचर छात्रों के लिए सफलता लेकर आ रहा है परन्तु परिश्रम की आवश्यकता है। गोचर की इस समयावधि के दौरान, आपको किसी मांगलिक कार्यक्रम में जाने का अवसर मिलेगा। साथ ही, साथी से प्यार और सहयोग की भी भरपूर प्राप्ति होगी। नवीन वस्तुओं का क्रय आपके द्वारा होगा। भाग्य का आपको भरपूर साथ मिलनेवाला है। धार्मिक कार्य में आपकी रूचि बन सकती है। आपकी सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र पर नौकरी पेशा जातकों और उन जातकों को जो नौकरी बदलने के बारे में सोच रहे थे, दोनों को ही इस गोचर के दौरान बहुत लाभ और तरक्की करने के कई अवसर प्रदान होंगे।

उपाय – शुक्र की वस्तुएं जैसे- चांदी, सफ़ेद कपड़ा, घी, सफ़ेद फूल, इत्र, अगरबत्ती, दूध, मिश्री, चंदन का दान करें

मीन राशि पर प्रभाव

शुक्र का राशि परिवर्तन आपकी राशि से अष्टम भाव में हो रहा है। इस भाव को आयुर्भाव भी कहा जाता है। प्रेम संबंधों के लिए यह गोचर अच्छा है, परस्पर संबंधों में मधुरता देखने को मिलेगी। संतान का अच्छा सुख मिलेगा। कामकाज हो या व्यवसाय धन लाभ जरुर होगा। यह गोचर आपके भाग्य को बदलने वाला है। अच्छा सुख और समृद्धि मिलेगी, मन प्रसन्न रहेगा। अविवाहित जातकों के लिए विवाह के योग बन सकते है। छात्रों को इस गोचर में सफलता अवश्य मिलेगी। जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है उनके लिए भी यह गोचर उत्तम है। इस समय खर्चों में वृद्धि होगी। मन में कामभावना उत्पन्न होंगी परन्तु अपने मन को काबू में रखना ही आपके हित में रहेगा। पारिवारिक सुख अच्छा बना हुआ है। पारिवारिक जीवन में भी घर-परिवार का अच्छा वातावरण, आपको प्रसन्न करेगा। संभावना है कि, आपको अपनी किसी पैतृक संपत्ति से लाभ मिले।

उपाय – गरीबों में दूध का दान करें, मीठा बांटे।

अभी पन्ना रत्न आर्डर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here