admin

गृह क्लेश से आप भी है परेशान, तो जानिए ज्योतिषीय उपाय जो जिन्दगी को बनायेंगे आसान

 

गृह क्लेश के कारण 

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में गृह क्लेश एक गंभीर मुद्दा बना हुआ है। दुनिया में परिवार से बढ़कर कोई सुख नहीं है  परन्तु इस सुख से हम वंचित हो रहे है। रिश्तों में गलतफहमी व मनमुटाव होने से पूरे परिवार की शांति भंग हो जाती है और इसका असर पूरे परिवार पर पड़ता है। जिस व्यक्ति के घर में आए दिन लड़ाई – झगड़ा होता रहता है और कलह मची होती है, उस जातक की कुंडली में चंद्रमा निर्बल अर्थात कमजोर होता है या फिर उस जातक की कुंडली में चतुर्थ भाव का दोष पाया जाता है।

Grah Klesh ke Upay

वैदिक ज्योतिष के अनुसार जन्म कुंडली में द्वितीय भाव परिवार का, चतुर्थ भाव घर का तथा सप्तम भाव पति-पत्नी से संबंधित होता है। यदि इन भाव का स्वामी कमजोर हो या इन भावों में कोई क्रूर या अशुभ ग्रह जैसे मंगल, शनि, राहु, केतु स्थित हो जाएं तो परिवार में अशांति व क्लेश होने लगता है।

ज्योतिष शास्त्र में गृह क्लेश से छुटकारा पाने के लिए कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिन्हें करने से इस समस्या से छुटकारा मिलता है और घर में शांति का वास होता है। यदि आप भी अपने घर में होने वाले क्लेश से परेशान हैं, तो इस लेख के माध्यम से जानें गृह क्लेश निवारण के सटीक उपाय।

घर में करें वास्तु पिरामिड की स्थापना

वास्तु दोष भी गृह क्लेश का कारण होता है। वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार, दक्षिण-पूर्वी दिशा को अग्नि कोण माना जाता है। चूंकि इस दिशा पर अग्नि तत्व का शासन होता है, ऐसे में परिवार के सदस्यों की खुशी इसी दिशा से उत्पन्न होती। घर की इस दिशा में वास्तु पिरामिड की स्थापना अगर हम करते है तो घर में कलह नहीं होता। इस घर में आवास करने वाला जातक दीर्घायु, निरोगी और अच्छे धार्मिक विचारों वाला हो जाता है। 

धारण करें दोमुखी रुद्राक्ष

अगर दाम्पत्य जीवन में कडवाहट आ रही है, आए दिन पति-पत्नी के बीच छोटी –छोटी बातों को लेकर मतभेद उत्पन्न हो रहे है तो सोमवार के दिन दो-मुखी रुद्राक्ष धारण करने से गृह क्लेश समाप्त हो जाते है। दो मुखी रुद्राक्ष में साक्षात शिव और पार्वती बसते हैं। इसे धारण करने के बाद आपके बिगड़े काम संवर जाते है। पति-पत्नी के बीच प्यार बढ़ता है। दांपत्‍य जीवन को सुखी बनाने के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत लाभकारी है। 

अभी अभिमंत्रित 2 मुखी रुद्राक्ष प्राप्त करें

धारण करे फिरोज़ा रत्न

फिरोज़ा रत्न प्यार का कारक रत्न है। गृह क्लेश के उपाय के तौर पर फिरोज़ा रत्न बहुत लाभदायक होता है। फिरोज़ा रत्न के प्रभाव से वैवाहिक सुख प्राप्त होता है। वैवाहिक जीवन में सुख प्राप्ति की चाह रखने वालों के लिए फिरोज़ा रत्न बहुत उपयोगी है। यदि पति-पत्नी में कोई अनबन हो या प्रेमी-प्रेमिका के बीच परेशानी चल रही हो तो फिरोजा रत्न की दो अंगूठियां बनवाएं और शुभ मुहूर्त में एक-दूसरे को पहनाने से परस्पर संबंधो में मधुरता आती है। अगर सगे-संबंधी या मित्रों के साथ किसी बात को लेकर क्लेश या अनबन हो रही है तो फिरोजा रत्न किसी भी रूप में भेट करने पर रिश्तों में सुधार होता है, परस्पर कलह दूर जाता है। 

अभी अभिमंत्रित फिरोजा रत्न प्राप्त करें

गृह क्लेश को दूर करने के लिए कपूर क्यों महत्वपूर्ण है

  • यदि दाम्पत्य जीवन में कलह बना रहता है, तो दंपत्ति को रात को सोते समय बिना टोके जीवनसाथी के सिरहाने तकिए के नीचे कपूर रकहें और प्रातः जल्दी उठकर बिना टोके उसे जला दें, तत्पश्चात कपूर की राख को बहते हुए पानी में प्रवाहित करने से घर में शांति बनी रहती है तथा पति-पत्नी के बीच का कलह समाप्त होता है।
  • रात को सोने से पहले किसी पीतल के बर्तन में कपूर लेकर उसे गाय के शुद्ध घी में डूबोकर जलाने से घर का कलह ख़त्म हो जाता है।
  • रविवार के दिन गोबर के उपले पर कपूर और गुड़ रखकर उस पर थोड़ा देसी घी डाल कर जलाने से घर में आ रही नकारात्मक ऊर्जा का खात्मा होता है, घर का माहौल खुशमिजाज बना रहता है।
  • घर के अंदर सप्ताह में किसी एक दिन कपूर जलाकर उसके धुंए घर में फ़ैलाने से गृह क्लेश नहीं होता तथा घर में सुख शांति का वास रहता है। घर का वातावरण प्रफुल्लित रहता है। यह गृह क्लेश निवारण का अच्छा उपाय है।

गृह क्लेश निवारण के कुछ सटीक उपाय

  • गृह क्लेश निवारण के उपाय के तौर पर पत्नी को प्रसन्न करने के लिए पति शुक्रवार के दिन उन्हें सुंदर सुगंधित पुष्प या इत्र भेंट कर सकते हैं। इसके साथ ही इस दिन चांदी की कटोरी में से दही शक्कर लेकर पत्नी को खिलाएं।
  • मंगलवार के दिन हनुमान जी के समक्ष पंचमुखी दीप प्रज्ज्वलित करें और अष्टगंध जलाकर उसकी सुगंध पूरे घर में फैलाएं। घर में सकारात्मक ऊर्जा का निवास होगा।
  • घर से नकारात्मक उर्जा को निकालने के लिए घर की महिलाओं को चाहिए कि वो सूर्योदय से पहले घर में झाडू लगाकर कचड़े को घर के बाहर फेंके।
  • रोटी बनाते वक्त पहली रोटी गाय व आखिरी कुत्ते की निकालें और रोजाना उन्हें खिलाने से गृह क्लेश समाप्त होते है।
  • घर के उत्तर-पूर्व यानि ईशान कोण को साफ़ रखें वहां गन्दी वस्तुएं भूलकर भी न रखें।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें : 8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : AstroVidhi Facebook Page

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here