Subscribe Daily Horoscope

Congratulation: You successfully subscribe Daily Horoscope.
 

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट

भगवान शिव की आंखों से गिरा प्रथम आंसू ही एकमुखी रुद्राक्ष है। इस रुद्राक्ष को सबसे अधिक कल्‍याणकारी और महत्‍वपूर्ण माना गया है। पूरे ब्रह्मांड की कल्‍याणकारी वस्‍तुओं में एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट का नाम सर्वप्रथम आता है।

डिलीवरी: 3-4 दिनों में डिलीवरी
मुफ़्त शिपिंग: पूरे भारत में
फ़ोन पर ख़रीदें: +91 82852 82851
अभिमंत्रित: फ्री अभिमन्त्रण पंडित सूरज शास्त्री जी द्वारा

विवरण

आकार एवं उत्‍पत्ति :दक्षिण भारतीय काजू आकार प्राकृतिक रूद्राक्ष
वजन (ग्राम) :3.2 to 3.6 (Approx)
माप :35x20 (Approx)
सर्टिफिकेशन:Astrovidhi
धातु :चांदी (92.5 Purity )

भगवान शिव की आंखों से गिरा प्रथम आंसू ही एकमुखी रुद्राक्ष है। इस रुद्राक्ष को सबसे अधिक कल्‍याणकारी और महत्‍वपूर्ण माना गया है। पूरे ब्रह्मांड की कल्‍याणकारी वस्‍तुओं में एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट का नाम सर्वप्रथम आता है।

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ

  • एक एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट धारण करने से व्‍य‍क्‍ति पापों से भी मुक्‍ति पा सकता है।
  • इस एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के प्रभाव में मनुष्‍य ज्ञान की प्राप्‍ति की ओर अग्रसर होता है।
  • इसे धारण करने से मनुष्‍य की उसके शत्रुओं से रक्षा होती है।
  • धन प्राप्‍ति में भी एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट सहायक होता है।

कैसे करें प्रयोग

एक एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट  को धारण करने का मंत्र “ॐ ह्रीं नमः” है और शिव का पंचाक्षर बीज मंत्र “ॐ नमः शिवाय” है। दोनों में से किसी भी एक मंत्र का उच्‍चारण कर एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट  को धारण किया जा सकता है।

ध्‍यान रहे नियमित पांच माला का “ॐ नमः शिवाय” मंत्र का जाप करने से इसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है।

हमसे क्‍यों लें

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट  को हमारे पंडितजी द्वारा अभिमंत्रित कर के आपके पास भेजा जाएगा जिससे आपको शीघ्र अति शीघ्र इसका पूर्ण लाभ मिल सके।

 

Reviews

Based on 2 reviews

Write a review
 

आश्चर्य

Rajiv pawar

आश्चर्य, मेरा गुस्सा खत्म हो गया, मन भी शान्त हुआ ।

Perfect for BP and Prosperity

Suresh Agarwal

I got advised by Acharyaji to wear 1 Mukhi rudraksha as I have BP issues. I must admit that the rudraksha did help me. My business is also shaping better since then. Thank you astrovidhi.