admin

राशि के अनुसार रत्न पहनने से आ जायेगी अपार धन-संपत्ति, खुल जाएंगें बंद किस्मत के ताले

राशि रत्‍न (Rashi Stone)-

राशि व्यक्ति के जीवन का आइना होती है, जीवन में कई बार ऐसा समय आ जाता है, जिसमे व्यक्ति अपने आप को नि:सहाय एवं बेबस पाता है, जब हम खुद को बेबस और असहाय महसूस करते है, तब जीवन बद से बदतर लगने लगता है, जीवन जीने का मोह ख़त्म सा होने लगता है। इस तरह की स्थिति से मुक्ति पाने के लिए ही ईश्वर ने इस धरती पर कई चमत्कारिक रत्न भेजे है, जिन्हें प्राचीन काल से ही हमारे ऋषि मुनियों ने विभिन्न 12 राशियों के अनुसार बांटे है।

कई लेखों के माध्यम से भी यह बताया गया है कि यदि कोई जातक अपनी राशि अनुसार सही रत्न धारण करता है तो उसके जीवन में आने वाली सभी समस्याओं से उसको बहुत ही जल्दी मुक्ति मिलती है। हर राशि का अपना अलग स्वभाव होता है, उसी तरह हर रत्न का भी अपना प्रभाव होता है। वैसे तो ग्रहों की शांति के लिए राशि अनुसार कई उपाय ज्योतिष शास्त्र में बताए गये है परन्तु इन समस्याओं का हल रत्न धारण कर के भी किया जा सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे है कि किस राशि के जातक के लिए कौन-सा रत्न शुभ रहेगा, जिसकी सहायता से उसके जीवन में खुशियों की बहार आ जायेगी।

मेष राशि रत्न 

मेष राशि के लोगों के अंदर क्रोध अधिक होता है, इस राशि के जातक छोटी-छोटी बातों का बतंगड़ बनाते है तथा बहुत जल्दी उत्तेजित होते है। यह जातक बहुत ही जिद्दी स्वभाव के होने के कारण कई बार अपना ही नुकसान कर बैठते है। मेष राशि के ऐसे लोगों के लिए ही मूंगा रत्न है। मूंगा रत्न सौरमंडल में स्थित सबसे आक्रामक ग्रह माने जाने वाले मंगल ग्रह का रत्न है। मंगल मेष राशि का अधिपति ग्रह माना जाता है।

मेष राशि के जातकों को मूंगा धारण करने से लाभ होता है। इस रत्न के प्रभाव से जातक का दिमाग शांत रहता है। उसके जीवन में आनेवाले सभी कष्ट दूर होते है। कुंडली में मंगल की शक्ति को और अधिक प्रभावशाली और मजबूत करने के लिए मूंगा रत्न धारण किया जाता है। शिक्षा प्राप्ति के लिए भी यह रत्न धारण किया जाता है। स्रियों में रक्त की कमी, मासिक धर्म और रक्तचाप जैसी परेशानियों को नियंत्रित करने में मूंगा रत्न अत्यंत लाभकारी होता है। यानि की महिलाओं के लिए यह रत्न अत्यंत लाभकारी है। पुलिस, आर्मी या प्रशासनिक नौकरी की इच्छा रखनेवाले लोगों को यह रत्न अवश्य धारण करना चाहिए। मेष राशि के जातक भूलकर भी हीरा धारण न करें।

अभिमंत्रित मूंगा रत्न आर्डर करें

 वृषभ राशि रत्न 

वृषभ राशि के जातक बहुत धैर्यवान होते है, लेकिन यह लोग बहुत भावुक भी होते है। स्वभाव से अत्याधिक भावुक होना ही इन जातकों की सबसे बड़ी कमी होती है। ये लोग किसी पर भी बहुत जल्दी भरोसा कर लेते है और धोखा खाते है, इसलिए ऐसे लोगों को ओपल रत्न धारण कर लेना चाहिये। ओपल शुक्र का रत्न है और शुक्र धन-धान्य और भोग विलास का कारक है। शुक्र वृषभ राशि का अधिपति ग्रह है।

वृषभ राशि के लोगों को शुक्र के रत्न ओपल को धारण करने से बहुत ही लाभ होता है। किडनी स्टोन जैसी बीमारी को दूर करने के लिए ओपल रत्न को धारण किया जाता है।

प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता लाने के लिए और दाम्पत्य जीवन को सुखी बनाने के लिए यह रत्न बहुत लाभकारी होता है। ओपल के प्रभाव से वृषभ राशि के जातक बुरी संगत से दूर रहते है। कला एवं फ़िल्मी जगत में प्रसिद्धि पाने के लिए भी ओपल रत्न धारण किया जाता है। इस राशि के व्यक्ति को माणिक्य नहीं धारण करना चाहिए। इन्हें मूंगा रत्न न पहनने की सलाह भी यहाँ दी जाती है।

Daily Horoscope

मिथुन राशि रत्न 

मिथुन राशि के जातक आकर्षक और कला प्रेमी होते है। इनका नेगेटिव पॉइंट होता है कि इन्हें जीवन में सफलता थोड़ी देर से मिलती है। पन्ना बुध ग्रह का रत्न है और बुध मिथुन राशि का स्वामी है। मिथुन राशि के लोगों को पन्ना रत्न धारण करने से बहुत ही लाभ होता है। इस रत्न के प्रभाव से जीवन में सफलता मिलती है, तथा जीवन में जो भी कष्ट होते है वह धीरे धीरे ख़त्म होने लगते है।

यह रत्न विद्वता, वाद-विवाद करने की क्षमता प्रदान करता है। पढाई में कमजोर बच्चों और छात्रों को पन्ना रत्न धारण करने से लाभ होता है। इसके प्रभाव से उनकी एकाग्रता में वृद्धि होती है। कहते है जिस घर में भी पन्ना रत्न होता है उस घर में धन-धान्य के कभी कमी नहीं होती। इस रत्न के प्रभाव से आँखों की रोशनी तेज होती है। गणित और कॉमर्स से सम्बंधित शिक्षा प्रदान करने वाले अध्यापकों के लिए पन्ना रत्न धारण करना लाभदायक होता है। मिथुन राशि के जातकों को नीलम रत्न भूलकर भी धारण नहीं करना चाहिए।

 

हिंदू पंचांग 2019 पढ़ें और जानें वर्ष भर के शुभ दिन, शुभ मुहूर्त, विवाह मुहूर्त, ग्रह प्रवेश मुहूर्त और भी बहुत कुछ।

अभिमंत्रित पन्ना रत्न आर्डर करें 

कर्क राशि रत्न 

कर्क राशि के जातक बुद्धिमान होते हैं परन्तु जिद्दी स्‍वभाव के भी होते हैं। अपने जिद्दी स्‍वभाव के कारण कभी-कभी इन्‍हें नुकसान भी उठाना पड़ जाता है। कर्क राशि के जातकों को मोती पहनने से लाभ होता है। सौरमंडल के सबसे चमकदार ग्रहों में से एक रत्न मोती है। यह रत्‍न मन के विचारों को नियंत्रित कर उसे शांति प्रदान करता है। मन को स्थिरता प्रदान करने में मोती रत्‍न अहम भूमिका निभाता है। मोती धारण करने से आत्‍मविश्‍वास में वृद्धि होती है।

pearl stone

मानसिक तनाव से जूझ रहे लोगों को मोती रत्न धारण करने से मानसिक शांति मिलती है तथा आत्मविश्वास बढ़ता है, भय दूर होता है। इस रत्न के प्रभाव से गुस्से पर नियंत्रण किया जाता है। माता के साथ संबंध अच्छे बनाए रखने के लिए यह रत्न धारण किया जाता है। ब्लड प्रेशर, हृदय, एवं आंखों से संबंधित बीमारी हो तो यह रत्न पहनना उचित होता है। महिलाओं को गर्भाशय से संबंधित परेशानियों से बचने के लिए मोती धारण करना चाहिए। जिन लोगों को अपनी राशि या कुंडली के बारे में जानकारी नहीं होती वह लोग भी मोती धारण कर सकते है। कर्क राशि के जातक कभी भी मूंगा रत्न धारण न करें।

अभिमंत्रित मोती आर्डर करें

सिंह राशि रत्न 

सिंह राशि के लोग काफी उदार स्वभाव के होते है, लेकिन इन्हें अपने जीवन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है। छोटी-छोटी चीजे भी इन्हें काफ़ी मेहनत करने के बाद नसीब होती है। ऐसे में अगर सिंह राशि के जातक माणिक्य रत्न धारण करे तो इन्हें अपने कार्यों में सफलता मिलती है। जबकि हीरा पहनने से इनको नुकसान होता है। माणिक्य रत्न का स्वामी सूर्य है और सूर्य की राशि सिंह है, इसलिए सिंह राशि के लोगों को माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए।

ruby stone

सूर्य की कृपा से जातक को हर कार्य में सफलता मिलती है इसलिए अगर सिंह राशि के लोग सफलता पाना चाहते है तो माणिक्य रत्न जरुर धारण करें। सूर्य ग्रह का रत्न माणिक्य बहुत ही चमकदार गहरा लाल या गुलाबी रंग का होता है। आँखों की समस्याओं से बचने के लिए यह रत्न धारण किया जाता है। इस रत्न के प्रभाव से प्रेम-भावना जागृत होती है, व्यक्ति में नेतृत्व करने के गुण आते है। सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को माणिक्य रत्न पहनने से लाभ होता है। कामकाज, व्यापार-व्यवसाय में लाभ पाने के लिए इस रत्न को धारण करना चाहिए।

अभिमंत्रित माणिक्य आर्डर करें

Weekly Horoscope

कन्‍या राशि रत्न 

जीवन में चाहे किसी भी तरह की दिक्कते आ रही हो उनसे मुक्ति पाना या जीवन में आ रही कठिनाइयों से निपटना कन्या राशि के जातक अच्छे से जानते है। इन जातकों में एक ही कमी होती है, यह जातक जरूरत से ज्यादा भावुक होते है और अपना ही नुकसान कर बैठते है। यह लोग बहुत जल्दी दूसरों की तरफ आकर्षित होते है। इनका चंचल स्वभाव ही इनकी सबसे बड़ी मुसीबत बन जाता है। अतः कन्या राशि के जातकों को पन्ना रत्न धारण कर लेना चाहिए।

इस रत्न के प्रभाव से जीवन में सफलता मिलती है, तथा जीवन में जो भी कष्ट होते है वह धीरे धीरे ख़त्म होने लगते है। यह रत्न विद्वता, वाद-विवाद करने की क्षमता प्रदान करता है। पढाई में कमजोर बच्चों और छात्रों को पन्ना रत्न धारण करने से लाभ होता है। इसके प्रभाव से उनकी एकाग्रता में वृद्धि होती है। कहते है जिस घर में भी पन्ना रत्न होता है उस घर में धन-धान्य के कभी कमी नहीं होती। इस रत्न के प्रभाव से आँखों की रोशनी तेज होती है। गणित और कॉमर्स से सम्बंधित शिक्षा प्रदान करने वाले अध्यापकों के लिए पन्ना रत्न धारण करना लाभदायक होता है।

 

अभिमंत्रित पन्ना रत्न आर्डर करें 

तुला राशि रत्न 

तुला राशि के जातकों में विभिन्न प्रकार की खूबियाँ होती है। इन्हें कला से प्रेम होता है, यह जातक पैसा कमाने के लिए सदैव उत्सुक रहते है, लेकिन यह हमेशा दूसरों पर अपना वर्चस्व साबित करना चाहते है। यह काफी स्वार्थी भी होते है। अपनी नकारात्मकता को नियंत्रित करने के लिए तुला राशि के जातक ओपल धारण कर सकते है। जबकि मूंगा धारण करने से इन्हें नुकसान हो सकता है। इसलिए तुला राशि के लोगों को शुक्र ग्रह का रत्न ओपल पहनना चाहिए।

ओपल शुक्र का रत्न है और शुक्र धन-धान्य और भोग विलास का कारक है। शुक्र तुला राशि का अधिपति ग्रह है। तुला राशि के लोगों को शुक्र के रत्न ओपल को धारण करने से बहुत ही लाभ होता है।

किडनी स्टोन जैसी बीमारी को दूर करने के लिए ओपल रत्न को धारण किया जाता है। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता लाने के लिए और दाम्पत्य जीवन को सुखी बनाने के लिए यह रत्न बहुत लाभकारी होता है। ओपल के प्रभाव से तुला राशि के जातक बुरी संगत से दूर रहते है। कला एवं फ़िल्मी जगत में प्रसिद्धि पाने के लिए भी ओपल रत्न धारण किया जाता है।

अभिमंत्रित ओपल रत्न आर्डर करें

वृश्चिक राशि रत्न

धैर्य और शांति का दूसरा नाम होते है वृश्चिक राशि के जातक। इन जातकों को अपने जीवन में सफलता पाने के लिए जी तोड़ मेहनत करनी पड़ती है। खूब पसीना बहाने के बाद ही कामयाबी इनके हाथ लगती है। अगर वृश्चिक राशि के जातक मूंगा रत्न धारण करे तो इनके द्वारा किये गए प्रयासों से जल्दी सफलता पाई जा सकती है। मूंगा रत्न सौरमंडल में स्थित सबसे आक्रामक ग्रह माने जाने वाले मंगल ग्रह का रत्न है।

मंगल वृश्चिक राशि का अधिपति ग्रह माना जाता है। वृश्चिक राशि के जातकों को मूंगा धारण करने से लाभ होता है। इस रत्न के प्रभाव से जातक का दिमाग शांत रहता है। उसके जीवन में आनेवाले सभी कष्ट दूर होते है।

कुंडली में मंगल के शक्ति को और अधिक प्रभावशाली और मजबूत करने के लिए मूंगा रत्न धारण किया जाता है। शिक्षा प्राप्ति के लिए भी यह रत्न धारण किया जाता है। स्रियों में रक्त की कमी, मासिक धर्म और रक्तचाप जैसी परेशानियों को नियंत्रित करने में मूंगा रत्न अत्यंत लाभकारी होता है। यानि की महिलाओं के लिए यह रत्न अत्यंत लाभकारी है। पुलिस, आर्मी या प्रशासनिक नौकरी की इच्छा रखनेवाले लोगों को यह रत्न अवश्य धारण करना चाहिए।

अभिमंत्रित मूंगा रत्न आर्डर करें

Monthly Horoscope

धनु राशि रत्न 

धनु राशि के जातक दिखने में मजबूत और शक्तिशाली होते है। कार्य को बहुत तेजी से करते है परन्तु कार्य को स्वयं पूरा न करते हुए बीच में ही किसी और को सौप देते है और खुद उस काम से हट जाते है। इस राशि के जातकों को पुखराज रत्न धारण करना शुभ होता है। पुखराज देवताओं के गुरु बृहस्पती का रत्न है। बृहस्पती देव धनु राशि के अधिपति ग्रह है इसलिए धनु राशि के लोगों को जीवन में सफल होने के लिए पुखराज धारण करना चाहिए।

यह रत्न भाग्य वृद्धि करने में सहायक होगा। पन्ना इनके लिए नुकसानदायी हो सकता है। जिन युवा-युवतियों के विवाह में विलंब होता है, उनको पुखराज पहनने से लाभ होता है तथा उनका वैवाहिक जीवन सुखद होता है।

इस रत्न के प्रभाव से धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ती है, मान-सम्मान में वृद्धि होती है तथा बेहतर निर्णय लेने की क्षमता में वृद्धि होती है। पेट से सम्बंधित रोगों से मुक्ति पाने के लिए पुखराज धारण करना लाभदायी होता है। बौद्धिक क्षमता के विकास के लिए, क़ानून से सम्बंधित काम के लिए पुखराज अच्छा होता है। पुत्र प्राप्ति की कामना कर रहे लोगों के लिए यह रत्न किसी वरदान से कम नहीं है। धन की कमी को दूर कर वैभव की प्राप्ति के लिए पुखराज अवश्य धारण करना चाहिए।

अभिमंत्रित पुखराज रत्न आर्डर करें

मकर राशि रत्न

मकर राशि के लोग हमेशा दूसरों की सहायता के लिए तैयार रहते है। इन लोगों के जीवन में चिताएं और परिश्रम अधिक होता है। परिवार से भी इनको सहयोग नहीं मिल पाता। इनका भाग्य देर से जागृत होता है, इसलिए मेहनत का फल भी इन्हें देर से मिलता है। मकर ग्रह का स्वामी शनि देव है और शनि देव का सम्बन्ध नीलम रत्न से होता है इसलिए मकर राशि के लोगों को नीलम रत्न धारण कर अपने जीवन को सुखद बनाना चाहिए। शनि का रत्न नीलम बहुत ही शक्तिशाली रत्न है।

यह चमत्कारिक रत्न शनि के शुभ प्रभावों को बढ़ाने के लिए हमारी सहायता करता है। ऑफिस में अगर दूसरे लोग आपको नीचा दिखाने की कोशिश करते है या आपके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया है तो नीलम रत्न आपके लिए ही है। इस रत्न को धारण करने से आपको अपनी मेहनत का फल मिलने लगता है।

यदि आपके काम बनते-बनते रुक जाते है या आपके साथ सडक दुर्घटनाएं अधिक होती है या शत्रु आप पर हावी होने लगता है तो यह रत्न आपके लिए ही है, इसको अवश्य धारण करना चाहिए। इस रत्न के प्रभाव से मानसिक शांति मिलती है, राजनीति से जुड़े हुए लोगों के लिए यह रत्न धारण करना बहुत फायदेमंद होता है। इसको धारण करने से मान-सम्मान में वृद्धि होती है तथा व्यापार-व्यवसाय में बरकत होती है। अगर व्यक्ति के मन में किसी प्रकार का भय है तो उसको ख़त्म करने के लिए नीलम रत्न धारण किया जाता है। यह रत्न पाचन शक्ति को तंदुरुस्त रखता है और बुरी नजर से हमारी रक्षा करता है।

अभिमंत्रित नीलम रत्न आर्डर करें

कुंभ राशि रत्न 

इन जातकों में ज्ञान का भण्डार होता है, लेकिन इनका आत्मविश्वास काफ़ी कमजोर होता है। ये शारीरिक रूप से ठीकठाक होते है। इस राशि का शुभ रत्न नीलम है। पुखराज इनके लिए नुकसानदायी हो सकता है। यह चमत्कारिक रत्न शनि देव के शुभ प्रभावों को बढ़ाने में मदद करता है।

ऑफिस में अगर दूसरे लोग आपको नीचा दिखने की कोशिश करते है या आपके दिमाग ने काम करना बंद कर दिया है तो नीलम रत्न आपके लिए ही है। इस रत्न को धारण करने से आपको अपनी मेहनत का फल मिलने लगता है।

यदि आपके काम बनते-बनते रुक जाते है या आपके साथ सडक दुर्घटनाएं अधिक होती है या शत्रु आप पर हावी होने लगता है तो यह रत्न आपके लिए ही है, इसको अवश्य धारण करना चाहिए। इस रत्न के प्रभाव से मानसिक शांति मिलती है, राजनीति से जुड़े हुए लोगों के लिए यह रत्न धारण करना बहुत फायदेमंद होता है। इसको धारण करने से मान-सम्मान में वृद्धि होती है तथा व्यापार-व्यवसाय में बरकत होती है। अगर व्यक्ति के मन में किसी प्रकार का भय है तो उसको ख़त्म करने के लिए नीलम रत्न धारण किया जाता है। यह रत्न पाचन शक्ति को तंदुरुस्त रखता है और बुरी नजर से हमारी रक्षा करता है।

अभिमंत्रित नीलम रत्न आर्डर करें

मीन राशि रत्न

मीन राशि के लोग अपने जीवन के प्रति काफ़ी उत्साहित रहते है। इनका स्वास्थ्य ज्यादा अच्छा नहीं रहता, यहाँ इनको गुरु ग्रह का रत्न पुखराज धारण करने की सलाह दी जाती है। पुखराज देवताओं के गुरु बृहस्पती का रत्न है। बृहस्पती देव मीन राशि के अधिपति ग्रह है इसलिए मीन राशि के लोगों को जीवन में सफल होने के लिए पुखराज धारण करना चाहिए। यह रत्न भाग्य वृद्धि करने में सहायक होगा।

पन्ना इनके लिए नुकसानदायी हो सकता है। जिन युवा-युवतियों के विवाह में विलंब होता है, उनको पुखराज पहनने से लाभ होता है तथा उनका वैवाहिक जीवन सुखद होता है। इस रत्न के प्रभाव से धार्मिक कार्य में रूचि बढ़ती है, मान-सम्मान में वृद्धि होती है तथा बेहतर निर्णय लेने की क्षमता में वृद्धि होती है।

पेट से सम्बंधित रोगों से मुक्ति पाने के लिए पुखराज धारण करना लाभदायी होता है। बौद्धिक क्षमता के विकास के लिए, क़ानून से सम्बंधित काम के लिए पुखराज अच्छा होता है।  पुत्र प्राप्ति की कामना कर रहे लोगों के लिए यह रत्न किसी वरदान से कम नहीं है। धन की कमी को दूर कर वैभव की प्राप्ति के लिए पुखराज अवश्य धारण करना चाहिए।

अभिमंत्रित पुखराज रत्न आर्डर करें

अगर आप राशि के अनुसार अभिमंत्रित रत्नों की अंगूठियाँ प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें :

राशि के अनुसार रत्नों की अंगूठियाँ  

किसी भी जानकारी के लिए Call करें :  8882540540

ज्‍योतिष से संबधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : Astrologer on Facebook

राशि के अनुसार रत्न पहनने से आ जायेगी अपार धन-संपत्ति, खुल जाएंगें बंद किस्मत के ताले
5 (100%) 1 vote

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here