admin

कोरोना वायरस: किसे बहुत अधिक सावधान रहना चाहिए?

आजकल चीन में कोरोना वायरस का आतंक फैला हुआ है, यह छोटासा लेख कोरोना वायरस के बारे में है जो चीन को सता रहा है। चीन से बाहर 22 देशों में कोरोना वायरस के कई मामलों में पुष्टि हुई है, इन देशों में थाईलैंड, जापान, दक्षिण कोरिया मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया, फ़्रांस, अमेरिका, जर्मनी और संयुक्त अमीरात शामिल है।   

क्या है आखिर कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस (सीओवी) का सम्बन्ध वायरस के एक ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने तक तकलीफ हो सकती है। ये वायरस श्वसन प्रणाली को पीड़ित करते है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया। ये वायरस अधिकांश मुख्य रूप से बिल्लियों, चमगादड़ और पक्षियों जैसे जानवरों को संक्रमित करते है। इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान शहर में शुरू हुआ था। चीनी लोग चमगादड़ का सूप और सारी गंदगी पीते है। डब्लूएचवो के मुताबिक बुखार, खाँसी, मांसपेशियों में दर्द, सांस लेने में तकलीफ इसके मुख्य लक्षण है। कम लोग है जो बलगम या खून,खाँसी और दस्त से पीड़ित है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सुझाव दिया गया है और अपुष्ट है कि कोरोना वायरस महामारी बन गया है और चीन ने वुहान शहर के पास 12000 से अधिक शवों को जला दिया है।  

सीटी स्कैन में भी यह पाया गया है की सभी रोगियों को निमोनिया है और उनके फेफड़े प्रभावित है। इस वायरस के कारण शरीर का जो मुख्य भाग प्रभावित होने वाला है वह शरीर में फेफड़े और गर्दन तक की नसे है क्योंकि इसमें छींकने और खांसने की आवश्यकता होती है।    

 कैसे फैलता है कोरोना वायरस?

यह एक श्वसन प्रक्रिया को प्रभावित करने वाला वायरस है, जब कोई व्यक्ति खांसता या छींकता है, तब ये वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। ये वायरस छींकने या खांसने के माध्यम से दूसरों को अपने चपेट में लेता है।

इस प्रकार हाथ धोना और उचित स्वछता बनायें रखना जरुरी है।

स्वस्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किये है, इनके मुताबिक अपने हाथों को साफ़ पानी और साबुन से धोना चाहिए। एक संक्रमित व्यक्ति से केवल वायरस से बचने के लिए थोड़ी दूरी बनाये रखें और उसे स्पर्श न करें। 

दूरी बनायें रखना

खांसते और छींकते समय नाक और मुहं रुमाल या टिश्यू पेपर से ढककर रखें, अंडे-मांस के सेवन से बचे और जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।

ज्योतिषीय रूप से, मैं इस बारे में बात करने जा रहा हूं कि इस वायरस से कौन सबसे अधिक प्रभावित हो सकता है,  हम सभी जानते हैं कि कर्क, वृश्चिक और मीन जल तत्व राशियाँ हैं। मिथुन, तुला और कुंभ वायु तत्व राशियाँ हैं और वृषभ, कन्या और मकर पृथ्वी तत्व राशियाँ हैं।

पृथ्वी पर जब विपत्ति की संभावना हो तो पृथ्वी तत्व से संबंधित राशियों के लोग प्रभावित होते हैं, तो उन्हें बचाना मुश्किल होता है। पानी के संकेत के बीच, कर्क राशि वाले लोग सबसे अधिक प्रभावित होंगे और फिर वृश्चिक और मीन राशि के  लोग कम से कम प्रभावित होंगे। कर्क वह चिन्ह है जो कि कालपुरुष की कुंडली में फेफड़ों पर और 8 वें भाव पर सबसे अधिक घातक होते है। स्कॉर्पियो भी नकारात्मक मंगल के संकेत है जो सभी प्रकार की बुरी चीजों और भावनाओं से जुड़ा हुआ है।

अभी अभिमंत्रित काला हकीक आर्डर करें  

जो लोग जल्दी ही वायु की चपेट में आते है, उनको यह रोग जल्दी ही अपनी चपेट में लेता है और यह बड़े पैमाने पर फैलता है। यदि आपको पता है कि आपकी राशि का सम्बन्ध इस राशि तत्व से है तो कोरोना वायरस से दूर रहकर सावधानी बरतना आपके लिए उचित है।  

यदि आप पर चंद्रमा, राहू, की मुख्य दशा, अन्तर्दशा चल रही है या आप इस वायरस से प्रभावित होते है तो विशेष रूप से राहू और केतु भी प्रभावित होंगे।

यदि सूर्य या मंगल या बृहस्पति की मुख्य दशा, अन्तर्दशा चल रही है, तो आपको ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि ये कोरोना वायरस के खिलाफ अच्छे से लड़ने की क्षमता रखते है चाहे फिर भले ही वह पीड़ित हो या न हो दूसरों की तुलना में जल्द ही ठीक हो जाते हैं और खुश और मुस्कुराते हुए इस वायरस की चपेट से बाहर आ सकते हैं।

दाहिने हाथ की अनामिका में रूबी और लाल मूंगा की अंगूठी को एक साथ पहनना अपने आप को इस तरह के किसी भी दुःख या बीमारी से बचाने के लिए एक अच्छा ऑप्शन है , लेकिन यह सुनिश्चित करें कि ये ग्रह आपकी व्यक्तिगत कुंडली में किस भाव में बैठे हैं।

 इस बीमारी से लड़ने के लिए 5 वें पुच्छल उप स्वामी या इसके तारा स्वामी का पत्थर पहनें जो रोगों से लड़ने में मदद करेगा लेकिन अगर इस भाव में राहू और केतु हो तो इसे अवॉयड करना ही उचित होगा।

अभी अभिमंत्रित लहसुनिया आर्डर करें  

यह छोटा लेखन सिर्फ जागरूकता पैदा करने के लिए है न कि किसी तरह का डर पैदा करने के लिए। मेरे पास जो है, उससे आप सहमत हो भी सकते हैं या नहीं भी। मै ये नहीं चाहता कि आप मेरे द्वारा बताये गये उपायों को लागू करें, पर मुझे यकीन है कई मामलों में यह उपाय आपके काम आने वाला है।

संबंधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : Astrologer on Facebook

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here