admin

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त, जानिए इस दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व क्यों हैं

मकर संक्रांति पर्व 2021

सामान्यत: प्रति वर्ष मकर संक्रांति 14 जनवरी को मनाई जाती है। इस दिन सूर्य उत्तरायण होता है, जबकि उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार इसी दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रांति भारत देश में मनाया जाने वाला प्रमुख और बहुत ही लोकप्रिय पर्व हैं। यह पर्व भारत के विभिन्न राज्यों में स्थानीय मान्यताओं के अनुसार मनाया जाता है। संक्रांति का सम्बन्ध कृषि, प्रकृति और ऋतु परिवर्तन से भी है। सूर्य देव को प्रकृति के कारक के तौर पर जाना जाता है, इसीलिए संक्रांति के दिन इनकी पूजा की जाती है। शास्त्रों में सूर्य देवता को समस्त भौतिक और अभौतिक तत्वों की आत्मा माना गया है। ऋतु परिवर्तन और जलवायु में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव इनकी स्थिति के अनुसार होता है। मकर संक्रांति से ही ऋतु में परिवर्तन होने लगता है। शरद ऋतु क्षीण होने लगती है और बसंत का आगमन शुरू हो जाता है। इसके फलस्वरूप दिन लंबे होने लगते हैं और रातें छोटी हो जाती है।

मकर संक्रांति 2021 तिथि, शुभ मुहूर्त

14 जनवरी, गुरुवार

पुण्य काल मुहूर्त : – सुबह 08:03:07  से दोपहर 12:30:00 तक

महा पुण्य काल मुहूर्त : 08:03:07 से 08:27:07 तक

संक्रांति स्नान : प्रात:काल (14 जनवरी 2021)

अभी चन्द्र लक्ष्मी माला प्राप्त करें

मकर संक्रांति क्‍यों है सबसे खास

12 संक्रांतों में से मकर संक्रांति को सबसे ज्‍यादा अहमियत इसलिए दी जाती है क्‍योंकि इसे खेत-खलियानों, फसलों से जुड़े हुए त्‍योहार के रूप में भी मनाया जाता है। असल में मकर संक्रांति के दौरान खेतों में फसलें तैयार हो चुकी होती हैं और इसी खुशी में सब मकर संक्रांति पर फसलों के तैयार होने की खुशियां मनाते हैं। संक्रांति के दिन ही हम हर उन चीज़ों का आभार प्रकट करते हैं जिसने खेती और फसल उगाने का काम किया हो।

मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व क्यों हैं  

मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व हैं, सुहागन महिलाओं द्वारा वस्तुओं का दान करने से पति की आयु लंबी होती हैं। इस दिन गुड़, चावल और तिल का दान करना सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। इस दिन दान करने से सूर्य देव की कृपा से सफलता के मार्ग प्रशस्‍त होते हैं। सूर्य का तेज जीवन में आने वाली असफलताओं का नाश कर जीवन में सफलता प्रदान करने का काम करता हैं।

मकर संक्रांति पर राशि अनुसार क्या क्या दान करना लाभदायक होता हैं, आइए जानते हैं

  • मेष राशि – मूंगफली, गुड़, तिल, खिचड़ी का दान करना शुभ होता हैं।
  • वृषभ राशि- गन्ना, गाजर, सफ़ेद कपडे और तिल का दान करना चाहिये।
  • मिथुन राशि- गुड़, तिल, कंबल, चावल की खिचडी या मूंगदाल और चावल दान देना शुभ होता है।
  • कर्क राशि- तिल, कंबल, सफ़ेद कपडे, चांदी तथा चावल का दान सर्वश्रेष्ठ होता है।
  • सिंह राशि- तांबा और सोना, सफ़ेद कपडे, तिल दान करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।
  • कन्या राशि- चावल, हरे मूंग, गन्ना, गाजर, या हरे कपड़े का दान देना चाहिए।
  • तुला राशि- हीरे, चीनी, चावल, कंबल का देना करना शुभ होता हैं।
  • वृश्चिक राशि- मूंगा, लाल कपड़ा, गन्ना, गाजर और तिल दान करना शुभ होता हैं।
  • धनु राशि- गुड़, गन्ना, पीतल, पंचधातु व तिल का दान करना शुभ होता हैं।
  • मकर राशि- चावल की खिचड़ी, बेसन के लड्डू या अष्टधातु से बनी वस्तुओं का दान करना चाहिए।
  • कुंभ राशि- काला कपड़ा, काली उड़द, खिचड़ी और तिल का दान करना चाहिए।
  • मीन राशि- रेशमी कपड़ा,चने की दाल, चावल, खिचडी और तिल दान करना शुभ होता है।

अभी चन्द्र लक्ष्मी माला प्राप्त करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here