admin

जानिए काले हकीक के लाभ और धारण विधि

प्राचीनकाल से ही काले हकीक को ज्योतिष शास्त्र में महत्वपूर्ण माना गया है, हकीक से बनी माला को ज्योतिष के लिहाज से बेहद ही लाभदायक माना गया है। ऐसी मान्यता है की हकीक की माला से जप करने से भगवान शिव अति प्रसन्न हो जाते है। इसके अलावा हकीक की माला फेरने के साथ यदि हनुमान जी के मन्त्र का जप किया जाए, तो यह भी अति लाभप्रद होता है।

जीवन में कितना भी बड़े सा बड़ा कष्ट क्यों न आये काले हकीक के प्रभाव से स्वयं की रक्षा के साथ-साथ उन कष्टों का निवारण भी हो जाता है। इस माला के बारे में जो लोग नहीं जानते उनके लिए यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण है, आइये आपको इस माला के फायदों के बारे में अवगत कराते है।

काले हकीक के लाभ

स्वयं की रक्षा के लिए

यह माला बहुत ही प्रभावशाली होती है, इसके इस्तेमाल करने से जातक के मन से डर का खात्मा हो जाता है, साहस में वृद्धि होती है। शत्रुओं से बचाव हो जाता है, इसके साथ ही एक सुरक्षा की भावना मन में उत्पन्न होती है।

अभी अभिमंत्रित काला हकीक आर्डर करें  

मानसिक शांति के लिए

काले हकीक के मोतियों की माला पहनने से मानसिक शांति मिलती है, मन में बुरे विचार नहीं आते, तन-मन रिलैक्स हो जाता है। किसी भी बुरे वक्त का जातक डटकर सामना करने में सक्षम हो जाता है। इसके प्रभाव से एकाग्रता में वृद्धि होती है, किसी भी काम के प्रति टेंशन नहीं रहती।

आर्थिक स्थिति में सुधार

हम यह जान ही चुके है की काले हकीक की माला का ज्योतिष शास्त्र में बड़ा ही महत्व है। घर से दरिद्रता दूर करने के लिए काले हकीक की माला को पूजा घर में स्थित माता लक्ष्मी के फोटो पर चढ़ाने से जातक के आर्थिक स्थिति में धीरे-धीरे सुधार होना शुरू हो जाता है।

शनि देव की कृपा पाने के लिए

शनि देव की कृपा पाने के लिए काले हकीक की माला पहनना सबसे उत्तम माना गया है। जो लोग शनि से संबंधित वस्तुओं का व्‍यापार करते हैं, उन्‍हें काले हक़ीक की माला धारण करने से अवश्‍य ही लाभ होगा। इसके अलावा शनि देव के प्रकोप से बचने के लिए भी इस माला का प्रयोग लाभकारी होता है। काले हक़ीक की माला से शनि के मंत्र का जप करना अत्यंत लाभकारी होता है।

काला हकीक माला की धारण विधि

प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व या सुबह स्नान करने के बाद मंगलवार या शनिवार के दिन यह माला धारण करना फलदायक होता है। काले हकीक की माला धारण करते समय शनि, तथा मंगल देव को याद करते हुए पूरी श्रद्धा से पूजा अर्चना करके 108 बार शनि के बीज मन्त्र ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः मंगल के बीज मंत्र- ॐ क्रां क्रीं क्रौं स: भौमाय नम: का जाप जरुर करें।

संबंधित अधिक जानकारी और दैनिक राशिफल पढने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को Like और Follow करें : Astrologer on Facebook

अभी अभिमंत्रित काला हकीक आर्डर करें  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here