Subscribe Daily Horoscope

Congratulation: You successfully subscribe Daily Horoscope.
₹1551.00
 
Share:
 

दक्षिणमुखी शंख

मान्‍यता है कि जिस घर में दक्षिणवर्ती शंख होता है वहां कभी भी नेगेटिव एनर्जी नहीं रहती। दक्षिणमुखी एक विशेष जाति का दुर्लभ अद्भुत् चमत्कारी शंख है। दाहिने तरफ खुलने की वजह से दक्षिणवर्ती शंख कहलाते हैं। दक्षिणवर्ती शंख की उत्‍पत्ति समुंद्र से समुद्रमंथन के दौरान हुई थी। ये शंख मां लक्ष्‍मी को अत्‍यंत प्रिय होता है। यह शंख बजाया नहीं जाता केवल पूजा कार्य में ही इसका उपयोग होता है

दक्षिणवर्ती शंख के लाभ

- दक्षिणवर्ती शंख में जल भर कर सूर्य को जल चढाने से नेत्र संबंधित रोगों से मुक्ति मिलती है।

- इस शंख का पूजन एवं ध्यान व्यक्ति को धन संपदा से संपन्न बनाता है।

- यदि घर में दक्षिणवर्ती शंख रहता है तो श्री-समृद्धि सदैव बनी रहती है। इस शंख को घर पर रखने से दुस्वप्नों से मुक्ति मिलती है।

- दक्षिणवर्ती शंख को अपने ऑफिस या दुकान में रखने से मां लक्ष्‍मी कृपा होती है और व्‍यापार में वृद्धि होती है।

कैसे करें पूजन

 बुधवार एवं बृहस्पतिवार के दिन किसी शुभ-मुहूर्त में पंचामृत से दक्षिणवर्ती शंख को स्नान कराएं। इसके पश्‍चात् धूप-दीप से पूजा करके चांदी के आसन पर लाल कपडे के ऊपर शंख को प्रतिष्ठित करें। इस शंख का खुला भाग आकाश की ओर तथा मुख वाला भाग अपनी और रखना चाहिए। शंख पर स्वास्तिक का चिन्ह बनाकर इसे चंदन, पुष्प, धूप दीप से पंचोपचार करके स्थापित करना चाहिए।

हमसे क्‍यों लें

Astrovidhi.com द्वारा भेजा गया दक्षिणवर्ती शंख मां लक्ष्‍मी के मंत्रों द्वारा अभिमंत्रित कर आपके पास भेजा जाएगा जिससे जल्‍द ही आपके सारे कष्‍ट दूर होंगें।