इस माला के जाप से दूर होते हैं सारे कष्‍ट, रोग होते हैं दूर

आध्‍यात्मिक के साथ-साथ वैज्ञानिक कारण

रुद्राक्ष माला को भगवान शिव का स्‍वरूप कहा जाता है तो वहीं तुलसी माला पर भगवान विष्‍णु, माता लक्ष्‍मी और माता तुलसी की कृपा बरसती है। रुद्राक्ष और तुलसी माला पहनने के आध्‍यात्मिक के साथ-साथ वैज्ञानिक कारण भी हैं।

COD में लें                               अभिमंत्रित तुलसी और रुद्राक्ष की माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें

रुद्राक्ष और तुलसी माला

रुद्राक्ष और तुलसी माला से मंत्र जाप करने से गले की धमनियों को सामान्‍य से ज्‍यादा काम करना पड़ता है। इस कारण कंठमाला और गलगंड जैसी बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। ऐसे रोगों से बचने के लिए गले में रुद्राक्ष और तुलसी माला पहनने की सलाह दी जाती है।

COD में लें                               अभिमंत्रित तुलसी और रुद्राक्ष की माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें

रुद्राक्ष की माला 

रुद्राक्ष की माला में एक से चौहद मुखी रुद्राक्ष का प्रयोग किया जाता है। मान्‍यता है कि 108 दानों की माला पहनने से अश्‍वमेघ यज्ञ जितना फल प्राप्‍त होता है। शिवपुराण में कहा गया है कि रुद्राक्ष की माला धारण करने वाले व्‍यक्‍ति को शिव लोक में स्‍थान मिलता है। पूरे संसार में रुद्राक्ष माला जैसा फल देने वाली और कोई दूसरी माला नहीं है।

COD में लें                               अभिमंत्रित तुलसी और रुद्राक्ष की माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें

रुद्राक्ष की माला के लाभ

रुद्राक्ष की माला धारण करने से सांसारिक दुखों और कष्‍टों से छुटकारा मिलता है। दिमाग और दिल की शक्‍ति में वृद्धि होती है। रक्‍तचाप भी नियंत्रित रहता है। भूत-प्रेत से रक्षा मिलती है और मानसिक शांति की अनुभूति होती है। रुद्राक्ष की माला पहनने वाले व्‍यक्‍ति में आकर्षण और वशीकरण की शक्‍ति आती है।

COD में लें                               अभिमंत्रित तुलसी और रुद्राक्ष की माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें

तुलसी की माला

वहीं तुलसी की माला धारण करने से बुखार, जुकाम, सिरदर्द और त्‍वचा रोगों से छुटकारा मिलता है। संक्रामक रोगों और अकाल मृत्‍यु से बचाने में भी तुलसी की माला कारगर होती है। शालिग्राम पुराण के अनुसार भोजन करते समय यदि गले में तुलसी की माला हो तो उस व्‍यक्‍ति को अनेक यज्ञों के पुण्‍य की प्राप्‍ति होती है।

COD में लें                               अभिमंत्रित तुलसी और रुद्राक्ष की माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें