शनि जप माला से मंत्र का जाप करने से जल्‍दी प्रसन्‍न हो जाते हैं शनि देव

शनि न्‍याय के देवता के कहे जाते हैं और इसीलिए न्‍याय करते समय वे किसी भी तरह की नरमी नहीं बरतते हैं। मनुष्‍य को उसके कर्मों का फल देना ही शनि देव का कार्य है। ईमानदार और मेहनती लोगों पर शनि की कृपा रहती है जबकि पाप, धोखाधड़ी और झूठ बोलने वाले लोगों को शनि देव कठोर दंड देते हैं।

शनि के नाम से हर कोई कांपने लगता है। शनि देव का प्रकोप ही ऐसा है कि इनसे डरना स्‍वा‍भाविक है। शनि देव के प्रकोप और उनके अशुभ प्रभाव से बचने के लिए शनि देव के अनेक ज्‍योतिषीय उपायों और मंत्रों का जाप किया जाता है।

मंत्र जाप में माला का भी बहुत महत्‍व है। जिस ग्रह या देवी-देवता को प्रसन्‍न करने के लिए आप उनके मंत्र का जाप कर रहे हैं अगर उनसे संबंधित माला से मंत्र का जाप किया जाए तो शीघ्र फल की प्राप्‍ति होती है।

शनि जप माला से करें शनि को प्रसन्न 

शनि देव को प्रसन्‍न करने के लिए भी एक विशेष माला बनाई गई है। अगर कोई व्‍यक्‍ति शनि देव के मंत्रों का जाप इस माला से करता है तो उसे शनि देव की कृपा के साथ-साथ पुण्‍य की प्राप्‍ति भी होती है।

ये है नाम

शनि के मंत्रों का जाप करने वाली इस विशेष माला का नाम शनि जप माला है। शनि देव को प्रसन्‍न करने के लिए मंत्र जाप में इस माला का प्रयोग करना अति शुभ और फलदायी माना गया है।

अभी आर्डर करें अभिमंत्रित शनि जप माला 

कैसे बनी है शनि जप माला

AstroVidhi शनि जप माला चंदन की लकड़ी से बनी है, इस कारण ये अत्‍यंत पवित्र और चमत्‍कारी मानी जाती है। शनि देव का प्रिय रंग काला है इसलिए इस माला को भी काले रंग में ही उकेरा गया है। काले रंग में होने के कारण इसका प्रभाव दोगुना हो जाता है।

इसलिए है खास शनि जप माला

मंत्र जाप के लिए बनी सभी मालाओं में 108 दाने होते हैं लेकिन इस AstroVidhi शनि जप माला में 96 दाने हैं। इसमें 96 दाने देने के पीछे कारण है कि आप इसका प्रयोग कभी भी, कैसे भी और कहीं से भी कर सकते हैं। 108 दाने वाली माला से मंत्र जाप करने का ये नियम होता है कि उससे 108 बार मंत्र जाप संख्‍या पूर्ण ही करनी होती है लेकिन इस माला में इस तरह को कोई नियम नहीं है। आप जब चाहें और जैसे चाहें इसका प्रयोग कर सकते हैं।

अभी आर्डर करें अभिमंत्रित शनि जप माला 

मंत्रों का समावेश

AstroVidhi शनि जप माला के साथ आपको शनि देव के अमोघ मंत्रों की एक पत्रिका भी दी जाएगी। इस पत्रिका में शनि देव के सभी मंत्र जैसे साढ़ेसाती, ढैय्या या तांत्रिक मंत्र शामिल हैं। साढ़ेसाती या ढैय्या से गुज़र रहे लोगों को AstroVidhi शनि जप माला से ही शनि देव के मंत्रों का जाप करना चाहिए।

आपको इस माला से पूर्ण लाभ मिल सके इसलिए AstroVidhi के अनुभवी ज्‍योतिषाचार्यों द्वारा इसे अभिमंत्रित कर आपके पास भेजा जाता है। शनि जप माला ऑर्डर करने के लिए यहां क्‍लिक करें

शनि जप माला के बारे में अधिक जानकारी के लिए Call करें :  8285282851