शनि के प्रकोप से बचाएगा शिव का 7 मुखी रुद्राक्ष

शनि का नाम सुनते ही भय घेर लेता है। शनि देव का प्रकोप ही ऐसा है कि हर कोई इनके नाम से ही कांपने लगता है। जिस व्‍यक्‍ति पर शनि की कुदृष्टि पड़ जाए उसका जीवन बर्बादी की ओर चलने लगता है।

शनि देव न्‍याय के देवता हैं और न्‍याय करते समय वह कोई नरमी नहीं रखते हैं। पाप करने वाले और बेईमान लोगों को शनिदेव सख्‍ती से उनके कर्मों का दंड देते हैं और इसीलिए शनि का प्रकोप झेलना काफी कठिन होता है।

कुंडली में शनि नीच स्‍थान में बैठा हो या शनि की साढ़ेसाती चल रही हो या ढैय्या चल रही हो तो उस जातक को अपने जीवन में अत्‍यंत कष्‍ट और पीड़ाएं झेलनी पड़ती हैं किंतु आपको घबराने की जरूरत नहीं है ज्‍योतिष में शनि की पीड़ा को शांत करने के उपायों के बारे में भी बताया गया है।

शिव का उपाय

शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित होता है। जो लोग शनि देव के प्रकोप से परेशान हैं उन्‍हें शनिवार के दिन उपाय करने से विशेष लाभ होता है। आज हम आपको बताएंगें कि भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्‍त सात मुखी रुद्राक्ष से किस प्रकार आप शनि देव को प्रसन्‍न कर सकते हैं।

सात मुखी रुद्राक्ष

7 मुखी रुद्राक्ष को कामदेव का रूप माना गया है। इस रुद्राक्ष का प्रभाव कई सालों तक बना रहता है। सात मुखी रुद्राक्ष पर मां लक्ष्‍मी की भी भरपूर कृपा बरसती है। सात मुखी धारण करने से शनि की कृपा तो प्राप्‍त होती ही है साथ ही मां लक्ष्‍मी भी प्रसन्‍न होती हैं।

सात मुखी रुद्राक्ष के लाभ

अगर आपके ऊपर कोई चोरी का आरोप लगा है तो सात मुखी रुद्राक्ष आपको उस आरोप से मुक्‍त करने में मदद करता है। सात मुखी रुद्राक्ष पर शनि देव की कृपा मानी जाती है।

नौकरी और व्‍यापार में सफलता

भाग्‍य का साथ पाना चाहते हैं तो 7 मुखी रुद्राक्ष आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। नौकरी और व्‍यापार में सफलता पाना चाहते हैं तो सात मुखी रुद्राक्ष से आपको लाभ होगा और भाग्‍योदय होगा।

शनि के प्रकोप से रक्षा

शनि से संबंधित होने के कारण सात मुखी रुद्राक्ष शनि के प्रकोप से रक्षा करता है। जोड़ों के दर्द, मानसिक परेशानी दूर करने में भी 7 मुखी रुद्राक्ष फायदेमंद होता है। शनि के प्रकोप के कारण आप कंगाल हो सकते हैं इसलिए बेहतर होगा कि आप सात मुखी रुद्राक्ष धारण करें। 7 मुखी रुद्राक्ष शनि के प्रकोप से बचाने के लिए एक रक्षा कवच के रूप में कार्य करता है।

अभिमंत्रित सात मुखी रुद्राक्ष प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

सेहत को फायदे

सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने से स्‍वास्‍थ्‍य को भी कई लाभ होते हैं। 7 मुखी रुद्राक्ष होने के कारण यह शरीर की सप्‍त धातुओं की रक्षा करता है और मेटाबॉलिज्‍म को दुरुस्‍त करता है। अगर आपका मेटाबॉलिजम कमज़ोर है तो आपको सात मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

7 मुखी रुद्राक्ष की प्रयोग विधि

किसी भी रुद्राक्ष को धारण करने से पूर्व उसे अभिमंत्रित करना बहुत जरूरी होता है। अभिमंत्रित किए बिना आप रुद्राक्ष धारण तो कर सकते हैं लेकिन उसका पूरा फल नहीं प्राप्‍त कर सकते। इसलिए अगर आप सात मुखी रुद्राक्ष का पूर्ण फल पाना चाहते हैं तो इसे धारण करने से पहले इसे अभिमंत्रित जरूर करवा लें।

सात मुखी रुद्राक्ष को धारण करने का मंत्र “ॐ हूँ नमः” है। सात मुखी रुद्राक्ष को धारण के पश्चात् इसी मंत्र की तीन या पांच माला रोज़ जाप करने से इस सात मुखी रुद्राक्ष की क्षमता कई सौ गुना बढ़ जाती है और धारक को धन एवं यश की प्राप्ति होती है।

कहां से लें

जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया कि 7 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से पूर्व उसका अभिमंत्रित होना बहुत जरूरी होता है। आप अभिमंत्रित सात मुखी रुद्राक्ष AstroVidhi से भी प्राप्‍त कर सकते हैं। सात मुखी रुद्राक्ष को हमारे पंडितजी द्वारा अभिमंत्रित कर के आपके पास भेजा जाएगा जिससे आपको शीघ्र अति शीघ्र इसका पूर्ण लाभ मिल सके। इसके पश्‍चात् आपको बस इसे धारण करना है।

अभिमंत्रित सात मुखी रुद्राक्ष प्राप्‍त करने के लिए यहां क्‍लिक करें

इसके अलावा अगर आप अपने जीवन में अन्‍य किसी समस्‍या या मुसीबत से परेशान हैं तो हमें बताएं। हमारे ज्‍योतिषाचार्य आपकी हर समस्‍या का समाधान बताएंगें।

किसी भी जानकारी के लिए Call करें : 8882540540